कतर के अमीर ने देश मे पहले राष्ट्रीय आम चुनाव कराने की घोषणा की है

कतर के शासक ने मंगलवार को कहा कि देश की नीति समीक्षा के लिए लंबे समय से लंबित चुनाव अधिकार प्रक्रिया अक्टूबर 2021 में होंगे, जो खाड़ी देशों के पहले राष्ट्रीय चुनाव को चिह्नित करेगा।

वर्तमान में निर्वाचित शूरा काउंसिल मसौदा व क़ानूनों पर शासक,अमीर शेख तमीम बिन हमद अल-थानी को सलाह देता है, शूरा कानून बनाने का अधिकार नहीं रखता और शूरा द्वारा प्रस्तावित मसौदा व क़ानूनों को एक साधारण रॉयल डिक्री द्वारा खारिज किया जा सकता है। पढ़े-दुबई में कारोबार के लिये 20 स्मॉल बिज़नेस आइडिया और अवसर-2020

अक्टूबर माह मे कराए जाने वाला चुनाव कतर का पहला राष्ट्रीय चुनाव होगा, हालांकि शेख तमीम ने इस बात का ब्योरा नहीं दिया कि किसे वोट देने की अनुमति होगी या कौन लोग चुनाव मे खड़ा होने में सक्षम होगें।

कतर पहले ही संवैधानिक सुधारों पर और एक देशव्यापी नगरपालिका परिषद के चुनावों में मत-पत्रों का चयन करने में सक्षम रहा हैं। पढ़े-क्या आप जानते हैं संयुक्त अरब अमीरात का कब और कैसे गठन हुआ था !

“शूरा परिषद के 49 वें सत्र एक भाषण में अमीर ने कहा, “शूरा परिषद का चुनाव अगले साल अक्टूबर में नागरिकों के व्यापक भागीदारी के साथ कतरी शूरा की परंपराओं को मजबूत करने के लिए होगा।”

देश के 2004 के कुछ संवैधानिक बदलाव के तहत परिषद के चुनावों को बार बार स्थगित किया जा था और निकाय के सदस्यों को सीधे अमीर द्वारा नियुक्त किया जा रहा था। पढ़े-सऊदी शूरा काउंसिल

शेख तमीम के 2013 में सत्ता में आने के बाद से क़तर मे लोकतंत्र, मज़दूर अधिकारों और महिलाओं के प्रतिनिधित्व सहित कई मुद्दों पर बहुत सुधार किया गया है। पढ़े-खाड़ी सहयोग परिषद GCC का गठन व उद्देश्य

शेख तमीम ने कहा, “हम कतरी सलाहकार परंपराओं को मजबूत करने और नागरिकों की एक विस्तृत श्रृंखला की भागीदारी के साथ विधायिका (Legislature) प्रक्रिया को विकसित करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं।

हमारे पास हमारा ठोस सिस्टम हमारे समाज की संरचना में निहित है और … यह एक बहु-पक्षीय प्रणाली नहीं है, बल्कि निष्पक्ष और तर्कसंगत शासन की स्थापित परंपराओं पर आधारित एक अमीरात की प्रणाली है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here