सऊदी अरब के मस्जिदों में कोरोना प्रोटोकॉल को सख़्ती से लागू करने का निर्देश

सऊदी इस्लामिक मामलों के मंत्रालय ने कोरोनावायरस प्रसार रोकथाम लिए लागू प्रोटोकॉल में कुछ ढिलाई का पता लगाने के बाद किंगडम के सभी मस्जिदों के अधिकारियों को नए निर्देश जारी किए हैं।

इस्लामी मामलों के मंत्री शेख अब्दुल लतीफ अल शेख द्वारा जारी एक सर्कुलर में मंत्रालय ने प्रोटोकॉल का पालन करने में प्रचारकों, इमामों और मुईज्जिनों व मस्जिदों के कुछ अधिकारियों की ओर से नरमी बरतने की ओर ध्यान आकर्षित किया किया गया है। पढ़े-सभी कार्यालयों व मॉल में तवक्कलना एप (Tawakkalna) अनिवार्य कर दिया गया है

मंत्रालय ने प्रोटोकॉल के कार्यान्वयन पर पालन करने की आवश्यकता को दोहराया है व कड़ाई से लागू करने को भी कहा गया है।

साथ ही मंत्रालय के पर्यवेक्षकों को निर्देश दिए कि वे मस्जिद के अधिकारियों की ओर से किसी भी तरह के उल्लंघन की सीधे रिपोर्ट करें और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें । पढ़े-जिन प्रवासीयो का एक्ज़िट री-एंट्री वीजा समाप्त हो गया है, वे 3 साल तक किंगडम मे प्रवेश नहीं कर सकते हैं- जवाजात

मंत्रालय के निर्देशा अनुसार निर्धारित प्रोटोकॉल को सख़्ती से लागू करना, जैसे की नमाजियों को जैनमाज लाना, मास्क पहनना, जुम्मे (शुक्रवार) के नमाज़ से एक घंटा पहले मस्जिद खोलना और नमाज़ के 30 मिनट बाद मस्जिद बंद करना शामिल है।

इसके अलावा, दो नमाजियों के बीच की दूरी 1.5 मीटर रखना, पवित्र क़ुरआन की प्रतियों को उपयुक्त स्थानों पर रखना, मस्जिदों में बेहतर वेंटिलेशन सुनिश्चित करना और नमाज़ के अंत तक खिड़कियां और दरवाज़े खुले रहना शामिल है।

प्रोटोकॉल के अनुसार मस्जिद के वाटर कूलर/ रेफ्रिजरेटर मे पानी या खाना/पीने की व्यवस्था करने की मनाही है। मस्जिद में प्रवेश करते समय भीड़ को अनुमति न देने का आग्रह किया गया है। पढ़े-सऊदी अरब हुक़ूमत ने तिमाही इकामा रिनूअल कराने की मंजूरी दी

सर्कुलर में, मंत्रालय ने अधिकारियों/पुलिस प्रशासन से मंत्रालय की वेबसाइट पर सभी मस्जिदों के प्रोटोकॉल की जांच रिपोर्ट अपडेट करने और परिस्थितियों से अवगत करने का आग्रह किया गया है। पढ़े-इकामा एक्सपायरी डेट की जांच अबशर अकाउंट के बगैर

स्रोत- गल्फ न्यूज 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here