अल उला, किदिया और रेड सी प्रोजेक्ट के बाद क्या सऊदी अरब पर्यटन स्थल में बदल जाएगा?

सऊदी अरब, अरब प्रायद्वीप का सबसे बड़ा देश है। सऊदी अरब धन के मामले में भी दुनिया के सबसे धनी देशों में से एक है। कोई भी किंगडम के महत्व पर संदेह नहीं कर सकता है। बहरहाल, हाल के वर्षों तक, किंगडम का पर्यटन क्षेत्र हज और उमराह तक सीमित था, यहा कड़ाई से धार्मिक नियमों का पालन कराया जाता था। वर्ष 2017 से यहा सब कुछ बदलने लगा। हमने अल उला प्रोजेक्ट (Al Ula Project), किदिया प्रोजेक्ट (Qiddiya Project) और रेड सी प्रोजेक्ट (Red Sea Project) जैसी परियोजनाओं को किंगडम में देखना शुरू कर दिया है। क्या सच में सऊदी अरब पर्यटन स्थल में बदल सकता है? पढ़े-सऊदी अरब में श्रम सुधारों की शुरुआत,14 मार्च 2021 से कफाला सिस्टम समाप्त हो जायेगा

परिवर्तन के प्रमुख कारणों में से एक अर्थव्यवस्था है। सऊदी अरब एक तेल आधारित अर्थव्यवस्था है। किंगडम में दूसरा सबसे बड़ा तेल भंडार है और यह दुनिया में पेट्रोलियम के प्रमुख निर्यातकों में से एक है। देश को पेट्रोलियम क्षेत्र से राजस्व लगभग 75%, सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का 45% और निर्यात आय का 90% है। 

हालांकि, किंगडम ऑफ सऊदी अरब के विज़न 2030 का उद्देश्य तेल आधारित अर्थव्यवस्था में विविधता लाना है और अधिक रोजगार के अवसर पैदा करना है। 

सऊदी अरब के नये परियोजना का मुख्य लक्ष्य सऊदी नागरिकों को सऊदी अरब में अधिक छुट्टियां बिताने के लिए आकर्षित करना और विदेशों में छुट्टियों पर कम पैसा खर्च करना है। विज़न 2030 का उद्देश्य अपने लोगों को देश में ही खर्च करने के लिए प्रोत्साहित करना है जो धन पारिवारिक मनोरंजन में जाता है।

परियोजनाओं का लक्ष्य, स्थानीय और विदेशी पर्यटकों को सालाना 50 मिलियन से अधिक पर्यटकों को किंगडम मे लाने का लक्ष्य रखा गया है। आइए एक नजर डालते हैं उन परियोजनाओं पर जो सऊदी अरब को एक पर्यटन स्थल में बदलने का दम रखते है। पढ़े-सऊदी अरब, निताकात कानून, रंग, श्रेणियाँ और लाभ

किदिया प्रोजेक्ट (Qiddiya Project)

सऊदी अरब ने बड़े पैमाने पर परियोजना का शुभारंभ किया है जिसे किदिया प्रोजेक्ट या किदिया शहर कहा जाता है। देश की राजधानी रियाद के दक्षिण-पश्चिम में अल-किदिया में एक मेगा सांस्कृतिक खेल और मनोरंजन शहर बनाने की परियोजना पर काम चल रहा है। पढ़े-सऊदी अरब ग्रीन कार्ड निवास परमिट आवेदन प्रक्रिया

रियाद शहर के केंद्र से 40 किमी दूर स्थित एक शहर जो मनोरंजन सुविधाओं से विकसित होगा। किदिया परियोजना के आगंतुक मनोरंजन सुविधाओं के छह समूहों का आनंद लें सकेंगे जिसमे मनोरंजन पार्क, खेल सुविधाएं, कार और बाइक रेसिंग क्षेत्र, बर्फ और पानी का पार्क, प्राकृतिक आकर्षण और सांस्कृतिक व परम्परागत कार्यक्रम शामिल है।

2019 में परियोजना पर काम शुरू हो गया था और 2023 में किदिया प्रोजेक्ट को जनता के लिए खोलने की तैयारी है। परियोजना का मुख्य उद्देश्य सऊदी नागरिकों के लिए एक विशेष मनोरंजन सुविधा प्रदान करना है। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से विज़न 2030 अंत तक किंगडम में 22,000 से अधिक नौकरियां सृजन होने की उम्मीद है। 

किंगडम के विज़न 2030 की सहायता करने वाली सबसे बड़े निवेश उपक्रमण में से एक किदिया परियोजना है। यह प्रोजेक्ट सऊदी अरब कों एक प्रमुख लैंडमार्क बनने के साथ-साथ एक महत्वपूर्ण मनोरंजक, सांस्कृतिक और सामाजिक केंद्र बनाने में मदद करेगा। पढ़े-सऊदी अरब 1932 से अब तक के राजाओं व ताज-राजकुमारों की सूची व इतिहास

रेड सी प्रोजेक्ट (Red Sea Project)

किंगडम के अर्थव्यवस्था में विविधता लाने के लिए प्रमुख योजनाओं में से एक रेड सी प्रोजेक्ट है। 

सऊदी अरब के समुद्र तटों के किनारे सूरज के साथ मस्ती एक नया रोमांच पैदा करेगा, रेड सी प्रोजेक्ट किंगडम के लिए एक नया अनुभव प्रस्तुत करेगा। पढ़े-नक़ल कफ़ाला, इक़ामा ट्रांसफर के स्थिति को जाँचने का ऑनलाइन प्रक्रिया 

प्राधिकरण पहले से ही मनोरंजन के नियमों को आसान बनाते जा रहे हैं, संगीत और फिल्म स्क्रीनिंग ने पिछले दो सालों में हजारों लोगों को आकर्षित किया है, और बहुत अच्छा राजस्व अर्जित किया है। समुद्र तट रिसॉर्ट्स एक तार्किक अगला कदम है। 

रेड सी परियोजना 125 मील के सुनहरे समुद्र के किनारे 50 लाल द्वीपों पर फैले शानदार लाल सागर की चट्टानों के बीच, विभिन्न होटलों और आलीशान भवनों व पार्क शामिल होंगे।पढ़े-सऊदी अरब मे भारतीयों के लिये श्रम उल्लंघन शिकायत व अन्य सहायता हेतु दूरभाष सेवा

प्रारंभिक ग्राउंड ब्रेकिंग 2019 की तीसरी तिमाही में शुरू होकर परियोजना का पहला चरण 2022 की चौथी तिमाही तक पूरा होने की उम्मीद है। पहले चरण में लॉजिस्टिक इन्फ्रास्ट्रक्चर, भूमि और समुद्री परिवहन के साथ-साथ होटल और लक्जरी आवासीय इकाइयों के विकास सहित सभी लॉजिस्टिक इन्फ्रास्ट्रक्चर शामिल हैं।

लाल सागर के अजूबों के अलावा, इस परियोजना का उद्देश्य पर्यटकों को मदन सालेह के खंडहरों जैसे कि यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल, और ऐतिहासिक और प्राकृतिक स्थलों की ओर आकर्षित करना है। 

रेड सी प्रोजेक्ट से लगभग 35,000 नौकरियां सृजित होने और देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 15 बिलियन सऊदी रियाल का योगदान होने की उम्मीद है। पढ़े-सऊदी अरब, गुम या क्षतिग्रस्त istimara को पुनः जारी करने की प्रक्रिया

अल-उला प्रोजेक्ट (Al Ula Project)

किंगडम को विश्व स्तरीय प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में बदलने की योजनाओं के तहत, क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने अल उला के पहाड़ी क्षेत्र में एक मेगा परियोजना शुरू की है।

इस मेगा परियोजना में रिसॉर्ट्स, पर्यटक आकर्षण और एक प्राकृतिक धरोहर शामिल हैं। इसका उद्देश्य 2035 तक अल उला क्षेत्र में 2 मिलियन पर्यटकों को आकर्षित करना है, और उस समय तक 38,000 नौकरियों को सृजित करने का लक्ष्य रखा गया है। पढ़े-सउदी अरब, फैमिली विजिट वीज़ा विस्तार प्रक्रिया

अल उला परियोजना मदीना से 300 किमी उत्तर में 22,000 वर्ग किलोमीटर से अधिक भूमि क्षेत्र में फैले गा। इसमें नेचुरल शहरान ‘प्राकृतिक धरोहर’ के साथ-साथ एक बहुत ही शानदार रिज़ॉर्ट होगा। 

अल उला क्षेत्र अपने बलुआ पत्थर की चट्टानों के निर्माण के लिए प्रसिद्ध है, और मदन सालेह का पुरातात्विक स्थल होने के साथ, पेट्रा के दक्षिण में सबसे बड़ी नाबातिन बस्ती है।

विभिन्न संस्कृतियों का स्वागत  (Welcoming different cultures)

आजकल वैश्विक मीडिया में इस मुद्दे पर बहुतेरे सवाल है, क्या प्रतिबंधात्मक सऊदी कानून पर्यटकों के विभिन्न संस्कृतियों को स्वीकार करेंगा? पढ़े-सऊदी अरब वीज़ा के प्रकार व आवेदन प्रक्रिया

इस सवाल का जवाब सही मायने में समय ही बताएं गा। बहरहाल, सभी संकेत कहते हैं कि सऊदी अरब अधिक स्वीकार्य वातावरण की ओर बढ़ रहा है।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नए पर्यटन स्थलों को “अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप” कानूनों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा। पढ़े-इकामा समाप्ति के बाद फाइनल एग्जिट वीज़ा जारी की प्रक्रिया-2020

1 COMMENT

  1. बहुत अच्छा इन्फार्मेशन है सुक्रिया सर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here