Tuesday, February 20, 2024
Homeनिताकातसऊदीजेशन और निताकात प्रोग्राम से प्रवासी श्रमिकों पर प्रभाव

सऊदीजेशन और निताकात प्रोग्राम से प्रवासी श्रमिकों पर प्रभाव

सऊदीजेशन या निताकात प्रोग्राम किंगडम की एक पहल है जिसे श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय द्वारा लागू किया गया है। जिसके तहत सऊदी अरब में कार्यरत कंपनियों/प्रतिष्ठानों को सरकार द्वारा निर्धारित कोटे/प्रतिशत के आधार पर सऊदी नागरिकों को नियुक्त करना अनिवार्य है। एक तरह से कहे तो सऊदी हुकूमत अपने नागरिकों के लिए जॉब आरक्षित करते जा रही है। पढ़े- GOSI सऊदी अरबीया, सब कुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सऊदीकरण (saudization) योजना कोई हालिया नीति नहीं है यह अभियान 1985 से चल रहा है लेकिन पिछले 5 वर्षों से हुकूमत सऊदीजेशन नियमों को कड़ाई से पालन करवा रही है। 

इसी तरह की प्रक्रिया अधिकांश गल्फ देशों में भी चल रहा है। सऊदी अरब में यह कार्यक्रम चौथी विकास योजना और विजन 2030 तहत चल रहा है। सऊदी अरब में बेरोजगारी दर (2019 में 11,6%) पर पहुँच गया था। बेरोजगारी पर काबू पाने के लिए सऊदीजेशन (Saudization) को किंगडम में पूरी ताकत से लागू करने पर जोर दिया जा रहा है। 

सरकार का उद्देश्य 2030 तक बेरोजगारी दर 7% से नीचे लाने का है सऊदी  vision 2030 के सुधारों में एक प्रमुख प्राथमिकता यह भी है। देश को तेल पर निर्भरता कम करने और अर्थव्यवस्था में विविधता लाने के लिए यह एक राष्ट्रीय रणनीति है। सऊदी अरब 2020 तक विदेशी श्रम बाजार पर बहुत अधिक निर्भर था।

सऊदीजेशन से विदेशी कामगार पर क्या प्रभाव पड़ा है?

नए कानून के लागू होने के कारण अनेकों विदेशियों को अपना कारोबार बंद करना पड़ा है या उनकी नौकरी चली गई।निताकात (Nitaqat) कानून निजी क्षेत्र के कंपनियों/प्रतिष्ठानों/कफ़िल को कर्मचारियों की संख्या के आधार पर एक निश्चित प्रतिशत सऊदी महिला/पुरुष को नौकरी पर रखने के लिए बाध्य करता है। निजी क्षेत्र की संस्थाओं को छह श्रेणियों में बाँटा गया है आप इस पोस्ट मे विस्तार से पढ़ सकते है सऊदी अरब, निताकात कानून, कलर, श्रेणियाँ और लाभ

10 से कम कर्मचारियों वाले कंपनी/कफ़िल/प्रतिठान को थोड़ी छूट दी गई है लेकिन उन्हें कम से कम एक सऊदी नागरिक को नौकरी पर रखना होगा। कई संस्थानों/कंपनियों में कार्यरत विदेशी कर्मचारियों को पहले ही टर्मिनेट कर उनके स्थान पर सऊदी नागरिकों को रोजगार पर रखा जा चुका है। 

जबकि अन्य विभाग निर्धारित तिथियों के अनुसार सऊदीजेशन प्रोग्राम लागू करते जा रहे है। उदाहरण के लिए मार्च 2020 से दंत चिकित्सा नौकरियां सऊदी के लिए आरक्षित हैं। 

नए निर्णय के अनुसार ये परिवर्तन धीरे-धीरे लागू होते रहेंगे। एक अन्य उदाहरण सऊदी अरामको है। सऊदी नेशनल पेट्रोलियम और गैस कंपनी जो आमदनी के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। जहा 2020 के अंत तक 90% सऊदीकरण (saudization) कर दिया गया था। पढ़ेसऊदी अरब, वेज प्रोटेक्शन सिस्टम (WPS)

सऊदीजेशन कार्यक्रम और परिवर्तनों को समझने का सबसे अच्छा तरीका श्रम मंत्रालय और सामाजिक विकास विभाग का आधिकारिक वेबसाइट है। 👉Ministry of Labour and Social Development website

महत्वपूर्ण (Important)

अधिकारी यह सुनिश्चित करने के लिए बाजारों में अवचक निरीक्षण का करते रहते है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके की सरकार द्वारा निर्धारित सऊदीजेशन नीतियों का पालन किया जा रहा है या नहीं।

यदि पॉलिसी तोड़ते हुए कोई कारोबारी/कंपनी/कफ़िल पकड़ा जाता है तो व्यापार पर भारी जुर्माना और संभावित प्रतिबंद लगाया जाता है। पढ़े- सऊदी काउंसिल ऑफ इंजीनियर्स रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, गाइडलाइन व टेक्नीशियन लिस्ट

विदेशियों के लिए प्रतिबंधित नौकरियों 

निम्नलिखित क्षेत्रों में सऊदीजेशन प्रोग्राम के तहत कई कारोबार में विदेशी श्रमिकों को काम पर नहीं रखा जा रहा है या जल्द ही ऐसा करने के लिए पात्र नहीं होंगे।

  1. सभी कपड़े खुदरा विक्रेता (महिलाएं, पुरुष, बच्चे)
  2. बैंकिंग (टेलर्स, इन-ब्रांच सपोर्ट)
  3. गोल्ड मार्केट  
  4. दूरसंचार (ऑफिस, स्टोरफ्रंट)
  5. घर का सामान (विक्रेता)
  6. ऑटो की दुकानें और स्पेयर पार्ट्स (खजांची )
  7. कार्यालय का आपूर्तिकर्ता 
  8. इलेक्ट्रॉनिक
  9. चिकित्सा उपकरण
  10. निर्माण सामग्री
  11. घड़ियों की दुकान
  12. नेत्र-संबंधी स्टोर
  13. पेस्ट्री की दुकान
  14. कालीन
  15. मनोरंजन  

और अन्य जो पाइप लाइन में है । 

सऊदीजेशन प्रोग्राम सऊदी महिलाओं के नए दौर की शुरुआत  

सऊदीजेशन प्रोग्राम सऊदी महिलाओं को किसी भी खुदरा क्षेत्र में काम करने का कानूनी हक प्रदान करता है जैसे महिला उत्पादों (कपड़े, मेकअप,आदि) या महिलाओं के लिए दूसरी अन्य सेवाएं प्रदान करना,ऑफिस वर्क आदि।

क्या इस बदलाव से सभी उद्योग प्रभावित हैं? यदि नहीं, तो प्रमुख उद्योग कौन से हैं और क्यों?

मंत्रालय ने फिलहाल खुदरा और थोक क्षेत्रों में 12 में से 4 कारोबार का सऊदीजेशन किया है। जिन चार कारोबार का सऊदीजेशन किया गया उन में कार और मोटर शोरूम, पुरुषों और बच्चों के लिए तैयार वस्त्र बेचने वाली दुकानें, घर और कार्यालय के फर्नीचर की दुकानें आदि उदाहरण के लिए घरेलू उपकरणों से संबंधित दुकानें शामिल हैं। पढ़ेसऊदी अरब, वेज प्रोटेक्शन सिस्टम (WPS)

सऊदीजेशन कानून का व्यापार मालिकों पर क्या प्रभाव पड़ा है?

सऊदीजेशन कानून से कंपनियों को नई चुनौतियों का सामना करना पढ़ रहा है।  कंपनीयां समित प्रवासियों को काम पर रखने के लिए बाध्य है। नए नियम के मुताबिक सऊदी महिला और पुरुष को काम पर रखना उन्हें नियमित रूप से वेतन देने और वेतन में वृद्धि करते रहना होगा।  खासकर सरकारी क्षेत्र में।

सरकारी नौकरी करने वाली सऊदी महिलाओं की संख्या 2017 में ना के बराबर 0.4% थी जो अब बढ़कर 476,347 से अधिक पहुंच गई है। व्यवसायों में सऊदी कोटा बनाए रखने की आवश्यकता पर बहुत जोर दिया जा रहा है हुकूमत का लक्ष्य 70% सऊदी पुरुषों को रोजगार में भागीदार बनाना है। दूसरी तरफ सऊदी महिला को काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। पढ़ेसऊदी स्किल टेस्ट प्रोग्राम का उद्देश्य, शर्तें और प्रवासियों पर इसका प्रभाव

मानव संसाधन विकास कोष (HADAF) ने सऊदी नौकरी चाहने वालों का समर्थन करने के लिए पूरे किंगडम में अपनी शाखाओं को रोजगार केंद्रों में बदल दिया है।

तो क्या सऊदी में प्रवासियों के लिए यह बुरी खबर है?

ऐसा बिल्कुल नहीं है। किंगडम प्रवासियों के संख्या बाल को कम कर पढ़े लिखे और पेशेवर लोगों को मौका देना चाहता है। इसलिए सऊदी अरब में रह रहे या आने वाले लोगों का प्रोफेशनल वेरिफिकेशन टेस्ट सहित सऊदी काउंसिल ऑफ इंजीनियर्स रजिस्ट्रेशन टेक्नीशियन, इंजीनियर आदि, सऊदी मेडिकल काउंसिल में मेडिकल प्रोफेशनल इसी तरह सऊदी अरब के हर डिपार्ट्मन्ट में विदेशियों के लिए स्किल टेस्ट प्रोग्राम व विशेष कानून बनाए गए जिसे धीरे धीरे लागू किया जा रहा है।  पढ़े- सऊदी अरब में ‘प्रोफेशनल वेरिफिकेशन’ टेस्ट के विषय में आवश्यक जानकारी

सऊदीजेशन प्रवासी श्रमिकों पर निर्भरता को कम करने की नीति है सऊदी अरब अपने विज़न 2030 के लक्ष्यों पर काम कर रहा है।

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments