इस्लामिक मामलों के मंत्री का अंजान व नमाज़ से संबंधित दिशा निर्देश

सऊदी अरब, मस्जिदों में होने वाले लेक्चर (दर्श) को निलंबित कर दिया गया हैं क्योंकि किंगडम ने कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंधों को कड़े कर दिए हैं।

सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) के अनुसार, इस्लामी मामलों के मंत्री अब्दुलातीफ बिन अब्दुल अजीज ने सभी धार्मिक मार्गदर्शन गतिविधियों (जालियत प्रोग्राम) को निलंबित करने और उन्हें ऑनलाइन करने का निर्देश दिया है। पढ़े-सऊदी अरब ने कोरोनोवायरस प्रसार के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र सभी मनोरंजन कार्यक्रमों, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल आदि को 10 दिनों के लिए बंद कर दिया है

मंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि नमाज़ और अंजान के बीच की अवधि को निर्धारित की जाए। निर्देशों के मुताबिक, अंजान और नमाज़ अदा करने के बीच का समय फर्ज़ नमाज़ को छोड़कर 10 मिनट निर्धारित की गई है, जो आम दिनों मे 20 मिनट होती है।

निर्देशों के अनुसार मस्जिद नमाज़ से 10 मिनट पहले खुलेंगे और 10 मिनट बाद बंद हो जाएंगे। शुक्रवार (जुमे) की नमाज़ के लिए, मस्जिदें अंजान से 30 मिनट पहले खेलेंगी और नमाज़ समाप्त होने के 15 मिनट बाद बंद हों जाएगी । शुक्रवार का ख़ुतबा (उपदेश) 15 मिनट से अधिक नहीं होगा। पढ़े-इकामा एक्सपायरी डेट की जांच अबशर अकाउंट के बगैर

सोशल डिस्टेंसिंग

मंत्रिस्तरीय निर्देशों अनुसार मस्जिदों में व्यक्तिगत जैनमाज ले जाना अनिवार्य कर दिया गया है चेहरे पर मास्क पहनने और सामाजिक दूरी का पालन करने के महत्व को याद दिलाया गया है।

आयोजनों और पार्टियों जैसे शादियों और कॉरपोरेट मीटिंग्स को कम से कम 30 दिनों के लिए स्थगित करने के बाद प्रतिबंधों को हटा दिये जाने की संभावना है। पढ़े-सऊदी अरब, अबशर अकाउंट में दर्ज मोबाइल नंबर ऑनलाइन/ऑफलाइन बदलने की प्रक्रिया

प्रतिबंध, गुरुवार से प्रभावी हो गया था जिसमे 10 दिनों के लिए मनोरंजन की सभी गतिविधियों को निलंबित करना भी शामिल है जिसे आवश्यकता अनुसार बढ़ाया जा सकता है।

कोविड -19 प्रसार को सीमित करने के प्रयास के तहत बुधवार को सऊदी अरब ने 20 देशों से आने वाले उड़ानों पर अस्थायी प्रतिबंध लागू कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here