रमजान के दौरान उमरा परमिट किन लोगों को मिलेगा? हज मंत्रालय का खुलासा

हज और उमरा मंत्रालय के अनुसार रमजान के महीने के दौरान उमरा और ग्रैंड मस्जिद और मस्जिद अल-नबवी में नमाज के लिए परमिट केवल उन लोगों को जारी किए जाएंगे जिन्हेंने कोरोना वायरस टीकाकरण कराया है ।

मंत्रालय के एक आधिकारिक सूत्र ने सोमवार को स्पष्ट किया की 1 रमजान से परमिट जारी किए जाएंगे, जैसा कि तवक्कलना एप में दिखाया गया है, जिसमें वे लोग भी शामिल हैं, जिन्होंने टीका की पहली खुराक 14 दिन पहले प्राप्त कर लिए है या जो कोरोना वायरस से पीड़ित थे और अब पूरी तरह उबर चुके हैं। पढ़े-सऊदी अरब में प्रोफेशनल वेरिफिकेशन टेस्ट के विषय में आवश्यक जानकारी

उमरा के साथ-साथ नमाज और दो पवित्र मस्जिदों (मस्जिद अल-हरम के साथ-साथ मस्जिद अल-नबवी) की यात्रा के लिए परमिट प्राप्त करने की प्रक्रिया को उपलब्ध समय स्लॉट के अनुसार, ईटमारना (Eatmarna) और तवक्कलना एप (Tawakkalna application) के माध्यम से पूरा किया जाना चाहिए और यह एहतियाती उपायों के साथ संभावित परिचालन क्षमता के अनुरूप है।

परमिट वेरिफिकेशन तवक्कलना एप (Tawakkalna) माध्यम से होगा और उनकी वैधता का सत्यापन आवेदक के अकाउंट के माध्यम से किया जाएगा। पढ़े-केवल वैध परमिट वाले उमरा यात्रियों को ही मक्का में प्रवेश की अनुमति होगी 

मंत्रालय के सूत्र ने कहा रमजान के दौरान मक्का में ग्रैंड मस्जिद की परिचालन क्षमता बढ़ाने का फैसला किया है।  

मंत्रालय ने अनुरोध किया है केवल अनुमोदित Eatmarna और Tawakkalna आवेदनों के माध्यम से जारी परमिट के साथ लोगों को उमरा व जियारत के लिए आना चाहिए। नकली वेबसाइटों और फर्जीवाड़े के खिलाफ सख्त चेतावनी दी गई है।

स्रोत-सऊदी गज़ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here