बहरीन ने भारत समेत दुनिया भर से आने वाले विज़िटरो के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है

कोरोना वायरस से निपटने और कई देशों फैले दूसरे लहर के मद्देनजर बहरीन की शीर्ष समिति ने 22 मई 2021 से सऊदी के इकामा धारकों लिए उपलब्ध आगमन वीजा सहित सभी आगंतुकों के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया है। अब केवल उन्हीं लोगों को बहरीन में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी जो वर्क वीजा पर बहरीन आ रहे हैं।

सऊदी अरब ने 20 देशों से आने वाले यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है इसलिए ये लोग बहरीन को तीसरे देश के रूप में इस्तेमाल कर सऊदी अरब में प्रवेश के लिए 14 दिन बिता रहे थे। इसका मतलब है कि भारत सहित 20 देशों से आने वाले यात्री जो बहरीन में 14 दिनों का  कोरेनटाइन रहने के बाद सऊदी अरब में प्रवेश कर रहे थे अब नहीं कर पाएंगे। पढ़े-सऊदी अरब में कारोबार के लिये 20 स्मॉल बिजनेस आइडिया-2021

किंग फहद कॉजवे (सेतु) प्रवेश प्रतिबंधित 

जो लोग सऊदी अरब में प्रवेश के लिए पहले से ही बहरीन में मौजूद है और उन्होंने अपना 14 दिन पूरा कार लिया है या बाकी है उन्हे निम्नलिखित शर्तों के साथ किंग फहद कॉजवे (सेतु) से जाने की अनुमति तभी दी जाएगी,

  • फाइजर बायोएनटेक की 2 खुराक  (2 doses of Pfizer BioNTech)
  • ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की 2 खुराक (2 doses of Oxford AstraZeneca)
  • मॉडर्न की 2 खुराक (2 doses of Moderna)
  • जॉनसन जैनसेन की 1 खुराक। (1 dose of Johnson Janssen)
  • सिनोफार्मा को स्वीकृत टीके के रूप में स्वीकार नहीं किया जायगा (Sinopharm is not accepted as an approved vaccine)

हलाकी की सऊदी नागरिकों के साथ मौजूद उनके घरेलू कामगार (Domestic workers) इस मार्ग से यात्रा कर सकते हैं, उन्हें दूसरे और छठे दिन दो कोविड-19 परीक्षणों के साथ 7 दिनों का होम क्वारंटाइन पूरा करना होगा। पढ़े-एक प्रवासी को सऊदी महिला या पुरुष से शादी करने के लिए 16 शर्तें पूरी करनी होगी

अगर यात्रियों को किंग फहद सेतु से प्रवेश पर रोक लगा दी जाती है तो वे बहरीन से सऊदी अरब के किसी भी शहर में फ्लाइट ले सकते हैं और एयरलाइन के जरिए अपना इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन पैकेज बुक कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here