इंडो-सऊदी मेडिकल फोरम का उद्देश्य भारत और सऊदी के बीच स्वास्थ्य क्षेत्र को बढ़ावा देना है

इंडो-सऊदी मेडिकल फोरम रियाद (ISMF) के रियाद अध्याय का उदघाटन हाल ही में भारतीय राजदूत डॉ. आसफ सईद द्वारा किया था।

सऊदी सेंटर फॉर इंटरनेशनल स्ट्रैटेजिक के अध्यक्ष और सीईओ डॉ फैसल अल-सुगेयर और स्वास्थ्य मंत्रालय के क्लिनिकल एक्सीलेंस जनरल डायरेक्टोरेट के सहायक पर्यवेक्षक डॉ अहमद असिरी ने उदघाटन समारोह में भाग लिया।

किंग सऊदी यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ मेडिसीन में कंसल्टेंट प्रोफेसर डॉ फवाज अल हुसैन इंडो-सऊदी मेडिकल फोरम के पहले प्रेसिडेंट होंगे। डॉ फवाज के अलावा कार्यकारी परिषद के सदस्य, व अन्य विशिष्ट सदस्यों ने भी आईएसएमएफ के उदघाटन समारोह में शामिल हुए। पढ़े-चेक करें आप के इकामा पर कितने सिम कार्ड पंजीकृत है / जांच प्रक्रिया

भारतीय दूतावास जेद्दा हाल ही में सऊदी अरब में स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में प्रतिष्ठित हस्तियों की उपस्थिति में एक प्रोग्राम आयोजित किया गया था।

भारत और सऊदी अरब के स्वास्थ्य क्षेत्रों और मेडिकल प्रोफेशनल के साथ तालमेल बिठाने के लिए दोनों देशों के बीच इस फ़ोरम की परिकल्पना की गई है। जिससे भारतीय मेडिकल प्रोफेशनलों को बेहतर रोजगार अवशर उपलब्ध होगा।  

फ़ोरम की स्थापना का उद्देश्य भारत और सऊदी अरब की चिकित्सा बिरादरी के साथ-साथ दोनों देशों के स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में अन्य हितधारकों के बीच संबंधों को बढ़ावा देना है।

फ़ोरम, जिसमें स्वास्थ्य और कल्याण के क्षेत्र में भारतीय और सऊदी डॉक्टर और विशेषज्ञ शामिल हैं, स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में भारत-सऊदी अरब के सहयोग को मजबूत करने में सहायक भूमिका निभाए-गा। पढ़े-सऊदी अरब, अबशर अकाउंट में दर्ज मोबाइल नंबर ऑनलाइन/ऑफलाइन बदलने की प्रक्रिया

ISMF की शुरुआत मूल रूप से जेद्दा में भारत के महावाणिज्य-दूत और अब रियाद में भारत के राजदूत डॉ. सईद ने भारत और सऊदी अरब की चिकित्सा सहयोग को बढ़ावा देने के लिए एक उच्च स्तरीय संस्थागत तंत्र के रूप में पेश किया है।

जेद्दा चैप्टर की सफलता ने ISMF को सऊदी अरब मे संगठन को बढ़ाने का मार्ग अपस्केलिंग किया है। ISMF को तीन क्षेत्रीय अध्यायों, जेद्दा, दम्माम और रियाद में विभाजित किया जाएगा, जो प्रत्येक क्षेत्रीय कार्यकारी परिषदों के नेतृत्व में होगा। पढ़े-इकामा एक्सपायरी डेट की जांच अबशर अकाउंट के बगैर

जेद्दा अध्याय का उदघाटन 25 दिसंबर को भारतीय महावाणिज्य राजदूत द्वारा किया गया था और अगले कुछ महीनों में दम्माम अध्याय का भी उदघाटन किया जाएगा। 

स्रोत-सऊदी प्रेस एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here