यूएई, न्यू “ग्रीन वीजा” धारक कंपनी/काफ़िल के प्रायोजन के बिना काम कर सकते हैं

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अधिकारियों द्वारा ‘ग्रीन वीजा’ की घोषणा की गई है।  इस नए वीजा का उद्देश्य विदेशी नागरिकों को कंपनी/काफ़िल के प्रायोजन के बगैर अपनी सुविधा के अनुसार काम करने की अनुमति प्रदान करना है। 

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में विदेशियों को आमतौर पर उनके रोजगार से जुड़े वर्क वीजा दिए जाते हैं जो किसी काफ़िल या कंपनी दवारा प्रायोजीत किया गया होता है जिससे यूएई दीर्घकालीन प्रवास करना मुश्किल होता है।

यूएई अधिकारियों के अनुसार “ग्रीन वीजा” धारक किसी कंपनी के प्रयोजन के बिना काम करने में सक्षम होंगे और अपने माता-पिता व बच्चों को 25 वर्ष की आयु तक प्रायोजित कर सकते हैं। पढ़ेमैं दुबई से कितना सोना भारत ला सकता हूं? व अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

यूएई के विदेश व्यापार मंत्री थानी अल-जेयौदी ने कहा इसका उद्देश्य अत्यधिक कुशल व्यक्तियों, निवेशकों, व्यवसायियों, उद्यमियों, साथ ही मेधावी छात्रों और योग्य लोगों को आकर्षित करना है।

यूएई सरकार नौकरी खो चुके लोगों को छह महीने तक देश में रहने की अनुमति देगी जो स्वागत योग्य और राहत भरी खबर है क्योंकि अधिकांश वीजा रोजगार संपर्कों से जुड़े होते हैं जिससे नौकरी खो चुके लोगों को पुनः जॉब खोजने में सहायता मिल सकेगी। साथ ही श्रम बाजार को ढील देने के प्रयासों के तहत 15 वर्ष से अधिक आयु के अस्थायी श्रमिकों को काम पर रखने की अनुमति दी है। पढ़ेक्या आप एक प्रवासी है? अपने रिटायरमेंट की योजना बना रहे हैं?

प्राकृतिक संसाधनों से लैस खाड़ी देश जैसे सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात,कतर, ओमान आदि देश तेजी से अपनी अर्थव्यवस्थाओं में विविधता लाने और तेल पर अपनी निर्भरता कम करने के प्रयास कर रहे हैं।

कोरोना वायरस महामारी का संयुक्त अरब अमीरात के पर्यटन और व्यापार उद्योग पर काफी प्रभाव पड़ा है यूएई की अर्थव्यवस्था हाल के वर्षों में तेल की कम कीमतों के कारण पहले से ही खस्ता हाल मे है।

यूएई ने धनी व्यक्तियों और अत्यधिक कुशल लोगों को आकर्षित करने के उद्देश्य से 2019 में 10 वर्षीय “गोल्डन वीजा” योजना शुरू की थी।

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की 10 मिलियन आबादी का 90% हिस्सा विदेशी नागरिको का हैं जो सऊदी अरब के बाद अरब दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। पढ़ेक्या आप जानते हैं संयुक्त अरब अमीरात का कब और कैसे गठन हुआ था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here