क्राउन प्रिंस ने निजी क्षेत्र के साथ साझेदारी को बढ़ावा देने के लिए शरीक प्रोग्राम शुरू किया है

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने मंगलवार को किंगडम में निजी क्षेत्र के साथ साझेदारी को मजबूत करने के लिए शरीक (पार्टनर) प्रोग्राम शुरू किया है। 

सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है यह कार्यक्रम घरेलू कंपनियों को लक्षित करता है जिसका उद्देश्य राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना और स्थायी विकास और समृद्धि का समर्थन करना है। पढ़े-मैं सऊदी अरब से भारत कितना गोल्ड/ कैश ले जा सकता हूं?

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के भविष्यवाणी के अनुसार यह कार्यक्रम हजारों नए रोजगार पैदा करेगा और दशक के अंत तक किंगडम के जीडीपी (GDP) में निजी क्षेत्र का योगदान 65 प्रतिशत तक हो जाएगा।

यह कार्यक्रम 2030 के अंत तक स्थानीय रूप से 5 ट्रिलियन सऊदी रियाल (1.33 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर) का कुल निवेश प्रदान करेगा।

कार्यक्रम के अलावा 3 ट्रिलियन रियाल सार्वजनिक निवेश कोष, सऊदी अरब के संप्रभु धन कोष द्वारा 2030 तक इंजेक्ट किया जाएगा जैसा कि इस वर्ष की शुरुआत में घोषित किया गया था। पढ़े-सऊदी अरब में कारोबार के लिये 20 स्मॉल बिजनेस आइडिया-2021

सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) के मुताबिक इस कार्यक्रम से सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था की वैश्विक रैंकिंग मौजूदा 18वें से 15वें नंबर पर बढ़ने की उम्मीद है।

बड़ी कंपनियों और शारिक प्रोग्राम (Shareek) के बीच पहला समझौता ज्ञापन जून से शुरू होने की उम्मीद है। पढ़े-सऊदी अरब ग्रीन कार्ड निवास परमिट आवेदन प्रक्रिया

शारिक प्रोग्राम (Shareek) हाल के वर्षों में सऊदी अरब द्वारा शुरू किए गए सऊदी विज़न 2030 का हिस्सा है। जिसका मकसद अर्थव्यवस्था में विविधता लाना है और तेल आधारित राजस्व पर निर्भरता को कम करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here